Saturday, 3 January 2015

सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .

सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
किसे वी घर ते पैण न देवीं ,तूं परछावें दुःख दे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ, असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
------------------------------------------------------
टुटे न कदे वी आस दी डोरी ,सिद्ध मनोरथ कर सबदे .
जो सुख होर कितों न मिलदा ,ओह असी तैथों हाँ लभदे .
एहो तमन्ना रख भगतां दे,सिर तेरे दर ते झुकदे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
--------------------------------------------------------
खुशियाँ ते खुशहालियाँ दे ,पैण माँ भंगड़े हर वेहड़े .
चंगे दिन जो दूर माँ हो गये ,औंण तेरे भगतां दे नेड़े .
तूं जेह्ड़े बूटे हत्थीं लावें ,ओह कदे न सुकदे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
-------------------------------------------------------
किसे नू वी मजबूरियाँ दा ,घेरा न माईए पैण दईं.
खुल्ले गफ्फे दईं तूं धन दे ,जरा कमी न रहण दईं ,
बड़े तेरे कोल हीरे पन्ने ,वंड वंड जो न मुकदे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
---------------------------------------------------------
सुतीयाँ जो निर्दोष नी माँ ,छेती जगा तकदीरां नू .
सौखे साह तूं औंण वी दे ,खस्ता हाल फकीरां नू .
तेरेयाँ गुलामां दे कदे वी ,कम न देखे रुकदे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .

No comments:

Post a Comment