Saturday, 3 January 2015

Bhagton ko Darshan De Gayi re, Ek chhoti si kanya -2 chotti si kanya, ek chotti si kanya

Bhagton ko Darshan De Gayi re, Ek chhoti si kanya -2
chotti si kanya, ek chotti si kanya
Bhagto ko darshan...

Bhagto ne poocha maiya naam tera kya hai - 2
Vaishno naam bta gayi re, ek chotti si kanya
Bhagto ko darshan....

Bhagto ne poocha maiya dham tera kya hai - 2
Parbat trikut bta gayi re, ek chotti si kanya
Bhagto ko darshan....

Bhagto ne poocha maiya sawari teri kya hai - 2
Pella Sher bta gayi re, ek chotti si kanya
Bhagto ko darshan....

Bhagto ne poocha maiya prasad tera kya hai - 2
Halwa-poori channa bta gayi re, ek chotti si kanya
Bhagto ko darshan....

Bhagto ne poocha maiya shringar tera kya hai - 2
Chola lal bta gayi re, ek chotti si kanya
Bhagto ko darshan....

Bhagto ne poocha maiya shastra tera kya hai - 2
Trishul chakra bta gayi re, ek chotti si kanya

Bhagto ko darshan....

जय जय माँ जय जय माँ वैष्णो माँ जय जय माँ,

जय जय माँ जय जय माँ वैष्णो माँ जय जय माँ, 
जय जय माँ जय जय माँ वैष्णो माँ जय जय माँ

सिद्ध स्वरूपा सर्वगुणी वैष्णो कष्ट निदान ........जय माँ जय माँ जय माँ जय माँ |
शक्ति,भक्ति दो हमे दिव्य शक्ति की खान .........जय माँ जय माँ जय माँ जय माँ |
अभय-दायनी, भय-मोचनी , करुणा की अवतार ..संकट त्रस्त भगतों का कर भी दो उद्धार
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||

गुफा निवासिनी मंगला माता , कला तुम्हारी जग विख्याताजय माँ ,
अल्प बुधि हम मूढ़ अज्ञानी , ज्ञान उजियारा दो महारानी जय माँ ,
दुःख-सागर से हमें निकालो , भ्रम के भूतों से माँ बचा लो जय माँ ,
मन के अब सब रोग हटाना , अपनी छाया मे माँ छुपाना जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||

भक्त वत्सला भेरव हरणी, आद्ध अनंता माँ जगजननी जय माँ ,
दिव्य ज्योति जहाँ होवे उजागर , वहां उदय हो धर्म दिवाकर जय माँ ,
पाप नाशिनी पुण्य की गंगा , तेरी सुधा से तैरें कुसंगा जय माँ ,
अमृतमयी तेरी मधुकर वाणी , हर लेती अभिमान भवानी जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||

सुखद सामग्री दो भगतन को , करो फल दायक मेरी चिंतन को जय माँ ,
दुःख मे ना विचलित होने देना , धीरज-धर्म ना खोने देना जय माँ ,
उत्साह-वर्धक कला तुम्हारी , मार्ग-दर्शक बने हमारी जय माँ ,
घेरे कभी जो विषम अवस्था , तू ही सुझाना माँ कोई रस्ता जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||

बिना द्वेष के विषधर काले ,जो सदभाव को डसनेवाले जय माँ ,
उनपर अंकुश सदा लगाना ,दुर्गुण को सद्गुण से मिटाना जय माँ ,
परम तृप्ति का जल देना , दुर्बल काया को बल देना जय माँ ,
आत्मिक शक्ति के अभिलाषी , कहते बना दे द्रढ विश्वासी जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||


बसी हो तुम श्रीधर के मन में , ज्योत तुम्हारी है कण-कण में जय माँ ,
हम अभिषेक माँ करें तुम्हारा , कर दो माँ उद्धार हमारा जय माँ ,
वीर लंगूर प्रहरी तेरा , भेजे तुम्हे माँ सांज- सवेरे जय माँ ,
विश्व-विजयी है तेरी शक्ति , भव- निधि तारक पावन भक्ति जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||


विघन हरण जग पालनहारी , सिघवाहीनि मात प्यारी जय माँ ,
कृपा की हम पैर दृष्टि करना , सच्चे सुख की वृष्टि करना जय माँ ,
यश गोरव सम्मान बढ़ाना , प्रतिभा का सूरज चमकना जय माँ ,
स्वच्छ सार्थिक श्रधा देना , शरणागति में हम को लेना जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||


शारदा ,लक्ष्मी और महाकाली , तीनो का संगम बलशाली जय माँ ,
रखना सिरों पे हाथ हमारे , सदा ही रहियो साथ हमारे जय माँ ,
आफत -विपदा ,भव-भय हरना , दुर्गम काज सुगम माँ करना जय माँ ,
हे दिव्या ज्योति सर्व व्यापक , तेरी दया के हम हे याचक जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||


बुद्धि विवेक विद्या दायनी , शक्ति तुम्हारी है रसायनी जय माँ ,
रोग-शोक-संताप को हरती , दुर्लभ वस्तु सुलभ है करती जय माँ ,
जाप तेरा जब रंग दिखाता , भवनवी का जल सुख जाता जय माँ ,
रत्नों से घर भर दो मैया , विष को अमृत कर दो मैया जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||


भक्ति सुमन जो करते अर्पण , धो दो उनके मन के दर्पण जय माँ ,
हे त्रिभुवन की सर्जनहरी , सदा ही रखियो लाज हमारी जय माँ ,
सुख-मयी जीवन का वर देना , सकल मनोरथ सिद्ध कर देना जय माँ ,
हिम पर्वत पे रहने वाली , करना आश्रित की रखवाली जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||


दैत्यों की संघारक माता , अम्बे कष्ट निवारक माता जय माँ ,
अखिल विश्व है तेरे सहारे ,रोम रोम तेरा नाम उच्चारे जय माँ ,
स्वामिनी हो उथान -पतन की , त्रिलोकी के आवागमन की जय माँ ,
हाथ दया का सिर पर धरना , हे मंगला माँ अमंगल हरना जय माँ ,
"मैया जी से जय माता दी कहियो , कहियो जी माँ के लाडलो " जय जय अम्बे जय जगदम्बे ||


|| पिंडी रूप परमेशवरी पुण्य दायक तेरा नाम ||
|| दिव्या तुम्हारी ज्योत को कोटि कोटि प्रणाम ||

कोटि कोटि प्रणाम

~जय माता दी 

मैया जग दाता दी, कह के जय माता दी, तुरिया जावीं देखी पैंडै तो ना घबरावीं।

मैया जग दाता दी, कह के जय माता दी,
तुरिया जावीं देखी पैंडै तो ना घबरावीं।

पहला दिल अपना साफ बनाले, फिर मैया नू अरज सूना लै।
मेरी शक्ति वदा, मैनू चरना ना ला, कहंदा जावीं, देखी पैंडै तो ना घबरावीं॥

औखी घाटी ते पैंडा अवल्डा, ओहदी श्रद्धा दा फड लै तू पलड़ा।
साथी रल जाणगे, दुखड़े टल जानगे, भेतां गावीं, देखी पैंडै तो ना घबरावीं॥

तेरा हीरा जनम अनमोला, मिलना मुड मुड़ ना मानुष दा चोला।
धोखा ना खा लवीं, दाग ना ला लवीं, बचदा जावीं, देखी पैंडै तो ना घबरावीं॥

पहला दर्शन है कौल कण्डोली, दूजी देवां ने भर ली है झोली।
आध्कवारी नू जगत महतारी नू सर झुकावीं, देखी पैंडै तो ना घबरावीं॥

ओहदे नाम दा लै के सहारा, लंग जावेंगा पर्वत सारा।
देखी सुन्दर गुफा, ‘चमन’ जय जय बुला, दर्शन पावीं, देखी पैंडै तो ना घबरावीं॥

हे अम्बे बलिहारी लगे सबको तू प्यारी तेरी शेरों की सवारी देखें सब नर नारी हे अम्बे बलिहारी ...

जय माता दी जय माता दी

हे अम्बे बलिहारी लगे सबको तू प्यारी
तेरी शेरों की सवारी देखें सब नर नारी
हे अम्बे बलिहारी ...

अष्ट भुजाएं वेष अनोखा खडग तेग है तेरी शोभा
तेरे जैसा कोई न होगा माँ अब आँखें खोल
जय माता दी जय माता दी जय माता दी बोल

हे माता कोहराम मचा है कठिन घड़ी है
जगदम्बे तू जाग के मुश्किल आन पड़ी है
फूंक के अपना देश आग जो सेंक रहे हैं
कर उनका संहार वतन जो बेच रहे हैं
कई शु.म्भ निशु.म्भ मारे तूने कई दैत्य यहां जन्मे हैं फिर से
माँ अम्बे त्रिशूल तो ले तू उनपे बिजली बनके गिर
अष्ट भुजाएं ...

करे भरोसा कोई यहां पे किस व्यक्ति का
लोग यहां पे ढोंग रचाते हैं भक्ति का
ये सारी धरती माता दरबार है तेरा
इस धरती पे लगा हुआ है पाप का डेरा
हे शक्ति माँ खप्पर वाली है अमर अजेय अखंड रूप
हे जगदम्बे हे महाकाली फिर धार ले तू प्रचंड रूप
अष्ट भुजाएं ...

Jai ambe gauri, mayya jai shyama gauri Tumko nish-din dhyavat, hari brahma shivji Jai ambe gauri

Jai ambe gauri, mayya jai shyama gauri
Tumko nish-din dhyavat, hari brahma shivji
Jai ambe gauri

Maang sindoor virajat, tiko mrig-mad ko
Ujjwal se dou naina, chandra vadan niko
Jai ambe gauri

Kanak samaan kalewar, raktaambar raaje
Rakt pushp gal-mala, kanthan par saaje
Jai ambe gauri

Kehri vahan rajat, kharag khapar dhaari
Sur nar muni jan sevat, tinke dukh haari
Jai ambe gauri

Kanan kundal shobhit, naas-agre moti
Kotik chandra divakar, sum rajat jyoti
Jai ambe gauri

Shumbh ni-shumbh vidare, mahisha sur ghati
Dhumra-vilochan naina, nish-din- mad mati
Jai ambe gauri

Chandh mundh sangh-haare, shonit beej hare
Madhu kaitabh dou maare, sur bhe heen kare
Jai ambe gauri

Brahmani rudrani, tum kamla rani
Aagam nigam bakhani, tum shiv patrani
Jai ambe gauri

Chon-sath yogini gavat, nritya karat bhairon
Baajat taal mridanga, aur baajat damaroomaroo
Jai ambe gauri
Tum ho jag ki maata, tum hi ho bharta
Bhakto ki dukh harata, sukh sampati karata
Jai ambe gauri

Bhuja chaar ati shobit, var mudra dhaari
Man vaanchit phal pavat, sevat nar naari
Jai ambe gauri

Kanchan thaal virajat, agar kapoor baati
Shri maal-ketu me rajat, kotik ratan jyoti
Jai ambe gauri

Shri ambe-ji-ki aaarti, jo koi nar gaave
Kahat shivanand swami, sukh sampati paave
Jai ambe gauri

Dil waali Palki Ch tainu Maa bethana hai chal mera naal tainu ghaar lae kaae jaana hai...

Dil waali Palki Ch tainu Maa bethana hai 
chal mera naal tainu ghaar lae kaae jaana hai...

Mera haath khali maa leekaaraan nae..
tera haath daati saabh diyaan taqdeeran nae...
sutyaa naseebaan nu aaj maa jagana hai...
O Chal Mera Naal tainu ghaar lae kaae jaana hai...

Bachayaan de naal daati russana nahi chaihiydaa...
aa pne pyaaran nu laara nahi lai daa...
kaun jaane daati aasaa rehana hai kee jaana hai...
chal mera naal tainu ghaar lae kaee jaana hai...

Dil waali Palki Ch tainu Maa bethana hai 

chal mera naal tainu ghaar lae kaar jaana hai...

Kaho Jai Jai Jai Maharani Ki ! Jai Durga Asht Bhavani Ki !!

Kaho Jai Jai Jai Maharani Ki !
Jai Durga Asht Bhavani Ki !!

Pahli Shailputri Kehlawe !
Doosri Bhramcharni Man Bhawe !!

Tisri Chandraghanta Shubh Naam !

Chauthi Kushmanda Sukhdham !!
Panchvi Devi Askand Mata !

Chhati Kaatyayani Vikhyata !!

Satvi Kaalratri Mahamaya !

Aathvi Mahagauri Jag Jaya !!
Nauvi Siddhiratri Jag Jane !

Nav Durga Ke Naam Bakhane !!

सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .

सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
किसे वी घर ते पैण न देवीं ,तूं परछावें दुःख दे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ, असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
------------------------------------------------------
टुटे न कदे वी आस दी डोरी ,सिद्ध मनोरथ कर सबदे .
जो सुख होर कितों न मिलदा ,ओह असी तैथों हाँ लभदे .
एहो तमन्ना रख भगतां दे,सिर तेरे दर ते झुकदे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
--------------------------------------------------------
खुशियाँ ते खुशहालियाँ दे ,पैण माँ भंगड़े हर वेहड़े .
चंगे दिन जो दूर माँ हो गये ,औंण तेरे भगतां दे नेड़े .
तूं जेह्ड़े बूटे हत्थीं लावें ,ओह कदे न सुकदे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
-------------------------------------------------------
किसे नू वी मजबूरियाँ दा ,घेरा न माईए पैण दईं.
खुल्ले गफ्फे दईं तूं धन दे ,जरा कमी न रहण दईं ,
बड़े तेरे कोल हीरे पन्ने ,वंड वंड जो न मुकदे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .
---------------------------------------------------------
सुतीयाँ जो निर्दोष नी माँ ,छेती जगा तकदीरां नू .
सौखे साह तूं औंण वी दे ,खस्ता हाल फकीरां नू .
तेरेयाँ गुलामां दे कदे वी ,कम न देखे रुकदे माँ .
सुखदे सुखदे सुखदे माँ ,असी एहिओं सुक्खां सुखदे माँ .