Thursday, 11 April 2013

हो मेनू अपना दीवाना बना दे के तेरा कैढा मुल्ल् लगदा - Ho Mainu Apna Deewana Bana De


हो मेनू अपना दीवाना बना दे 
हो मेनू अपना दीवाना बना दे 
के तेरा कैढा मुल्ल् लगदा
हो मेरे साँवाँ विच "जय माँ दी" पा दे 
के तेरा कैढा मुल्ल् लगदा, नी तेरा कैढा मुल्ल् लगदा..

जग दीयाँ रौणकाँ -च फिराँ मैं अक्ल्ला माँ..
लौकी-ऐ-सयाणे मेनू आखदे ने झल्ला माँ..
ओ मेनू जग नालों वखरा बना दे 
के तेरा कैढा मुल्ल् लगदा, नी तेरा कैढा मुल्ल् लगदा...
सुणाया ऐ सवाली तेरे दर ते जो आ गया
मन्गीयाँ मुरादाँ तेरे दर उत्तौ पा गया 
हो मेरी झौली विच खैर मय्या पा दे 
के तेरा कैढा मुल्ल् लगदा,नी तेरा ...

अखीयाँ नमाणीयाँ नू तेरा इन्तजार माँ 
चाहवँदा हे दिल मेरा तेरा ही दीदार माँ 
ओ मेरी जन्माँ दी प्यास भुझादे 
के तेरा कैढा मुल्ल् लगदा,नी तेरा कैढा मुल्ल् लगदा ...

सारा जग जाणदा ए तुइयो तेरी माता ऐ 
सच्चा ते सुच्चा दाती तेरा मेरा नाता ऐ 
औ मेंथौ निभदा नही तुइयो माँ निभादे 
के तेरा कैढा मुल्ल् लगदा,नी तेरा कैढा मुल्ल् लगदा ...

हो मेरे साँवाँ विच "जय माँ दी" पा दे 
के तेरा कैढा मुल्ल् लगदा, नी तेरा कैढा मुल्ल् लगदा ...
दीवाना बना दे .दीवाना बना दे. दीवाना बना दे

दीवाना बना दे .दीवाना बना दे. दीवाना बना दे 
के तेरा कैढा मुल्ल् लगदा, नी तेरा कैढा मुल्ल् लगदा ...

No comments:

Post a Comment