Wednesday, 27 March 2013

नहीयो छड़ना द्वारा तेरा... सुन ले पुकार इक्क वार शेरांवालीये !!

नहीयो छड़ना द्वारा तेरा...
सुन ले पुकार इक्क वार शेरांवालीये !!
सारी दुनिया च चानण तेरे...
सच्चा तेरा द्वार, दरबार शेरांवालीये !!!

करो आसाँ ते मुरादाँ माये पुरियां... 
हो दस्सो का दीयां ने दात्ती मजबुरीयाँ !!
कद्दे बच्चेयां दा ख्याल ना आया... 
अजे तक होया ना दीदार शेरांवालीये !!!
हो नहीयो छड़ना द्वारा तेरे...

कद्दे रोवां दात्ती कद्दे कुर्लावां... 
हो केहेंदे मावां ने ठ्न्दीयाँ छावां !!
दर्र डिग्याँ नु ना ठुकराना...
करो उपकार मै निसार शेरांवालीये !!!
हो नहीयो छड़ना द्वारा तेरे...

तेरे चरणी लगां मै महामाया... 
सानु मिल जाये आँचल दी छाया !!
देदे ममता दी भीख भवानी... 
सच्ची सरकार, कर पार शेरांवालीये !!!
हो नहीयो छड़ना द्वारा तेरा...

कित्ते वैष्णो माँ, दुर्गा तू काली... 
हो चिन्तपुरनी ते कांगढ़े वाली !!
कण -कण विच्च मात समाई... 
ज़ोय्त इक, रूप ने हजार शेरांवालीये !!!
हो नहीयो छड़ना द्वारा तेरा...

हो... नहीयो छड़ना द्वारा तेरा... 
सुन ले पुकार इक्क वार शेरांवालीये !!
सारी दुनिया च चानण तेरे...
सच्चा तेरा द्वार, दरबार शेरांवालीये !!!

No comments:

Post a Comment