Wednesday, 1 February 2012

तुम करो प्रभु से प्यार, अमृत बरसेगा.



तुम करो प्रभु से प्यार, अमृत बरसेगा - ४
बरसेगा भाई बरसेगा - ६
तुम्हें होगा प्रभु का दीदार, अमृत बरसेगा.    
तुम करो प्रभु से प्यार, अमृत बरसेगा - ४ 

दया-धर्म से प्रीत कर लो,
भव-सागर से पार उतर लो.
तेरा जो जाये बेडा पार,
अमृत बरसेगा. 
तुम करो प्रभु से प्यार, अमृत बरसेगा - ४ 

सच्चे ज्ञान का पहला गहना,
कड़वा बोल कभी न कहना.
तुम करो आत्म उद्वार,
अमृत बरसेगा. 
तुम करो प्रभु से प्यार, अमृत बरसेगा - ४ 

प्रभु नाम का अमृत प्याला,
पीले बनकर तू मतवाला,
यह मिले न बारम्बार,
अमृत बरसेगा. 
तुम करो प्रभु से प्यार, अमृत बरसेगा - ४ 

तुम करो प्रभु से प्यार, अमृत बरसेगा.
बरसेगा नित बरसेगा - २
तुम करो प्रभु से प्यार, अमृत बरसेगा.

No comments:

Post a Comment