Tuesday, 13 December 2011

Ram Naam Ke Heere Moti - राम नाम के हीरे मोती

राम नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊं गली - गली ।
कृष्ण नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊं गली - गली । 
ले लो रे कोई राम का प्यारा, 
ले लो रे कोई श्याम का प्यारी, 
शोर मचाऊं गली - गली ॥
माया के दीवानों सुन लो एक दिन ऐसा आएगा,
धन दौलत और माल खज़ाना, यही पड़ा रह जायेगा 
सुन्दर काया मिट्टी होगी, चर्चा होगी गली - गली 
राम नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊं गली - गली ।
कृष्ण नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊं गली - गली । 

जिन - जिन ने यह मोती लूटे, वो तो माला - माला हुए,
दुनिया के जो बने पुजारी, आखिर वो कंकाल हुए ।
चांदी-सोने वालों सुन लो, बात कहूं में खरी - खरी  
राम नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊं गली - गली ।
कृष्ण नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊं गली - गली । 

दुनिया को तू कब तक पगले यूँ अपना कहलायेगा,
ईश्वर को तू भूल गया, अंत समय पछतायेगा 
दो दिन का यह चमन खिला है, फिर मुरझाये कली - कली    
राम नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊं गली - गली ।
कृष्ण नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊं गली - गली । 

No comments:

Post a Comment