Sunday, 10 April 2011

हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे !!!

हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे
ओ सेवा तेरी विच खड़ा रवां मैं शाम सवेरे
मैयाजी अस्सी नौकर तेरे
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे - ४

दोवें हथ बन्न तेरे पैरां च खलो रवां
दुनिया नु छड मैया तेरा ही मैं हो रवां - २ 
जद्द दी नौकरी कीती तेरी ... शेरांवालिये... २ 
भाग जाग पये मेरे...
मैयाजी अस्सी नौकर तेरे
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे - २
ओ सेवा तेरी विच खड़ा रवां मैं शाम सवेरे
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे

भवन दे वेढे तेरे देवां मैं भुहरीयाँ
पलकां दे नाल पूंजा पौडियां प्यारियां - २ 
सेवक नु सेवा बक्शों ...मैं पावां फेरे
मैयाजी अस्सी नौकर तेरे
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे - २ 
ओ सेवा तेरी विच खड़ा रवां मैं शाम सवेरे
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे
इक पल वी ना परे... तेरे कोलों होवन मैं 
दाती प्रभाती तेरे चरण नु धोवन मैं - २   
तेरे करान सिंगार ....करान मैं तेरी जय जयकार....शेरांवालिये...
ले के फुल्लां दे सहरे 
मैयाजी अस्सी नौकर तेरे
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे - २ 
ओ सेवा तेरी विच खड़ा रवां मैं शाम सवेरे
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे

हर वेले हर सांसे गुण तेरे गावां मैं 
सेवा दी मजूरी बस तैथों एहो चावां मैं - २ 
जोश ते कृपा करो ....मैयाजी ...वसो माँ हृदय मेरे
मैयाजी अस्सी नौकर तेरे
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे - २ 
ओ सेवा तेरी विच खड़ा रवां मैं शाम सवेरे
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे

हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे
ओ सेवा तेरी विच खड़ा रवां मैं शाम सवेरे

हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे !!!
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे !!!
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे !!!
हाँ मैयाजी अस्सी नौकर तेरे !!!

नौकर तेरे चाकर तेरे शेरांवालिये !!!!

No comments:

Post a Comment