Tuesday, 25 May 2010

सांई नाथ सांई नाथ, सांई नाथ तेरे हजारों हाथ

तू ही फकीर, तू ही है राजा, तू ही है सांई, तू ही है बाबा

सांई नाथ सांई नाथ सांई नाथ तेरे हजारों हाथ -2
जिस जिस ने तेरा नाम लिया -2 तू हो लिया उसके साथ
सांई नाथ सांई नाथ, सांई नाथ तेरे हजारों हाथ -2
जिस जिस ने तेरा नाम लिया -2 तू हो लिया उसके साथ -2


इत देखूं तो तू लागे कन्हैया उत देखूँ तो दुर्गा मइया – 2
इत देखूं तो तू लागे कन्हैया उत देखूँ तो दुर्गा
नानक की मुस्कान है मुख पर चाँद ए मुहम्मद भी है मुख पर -2
सांई नाथ सांई नाथ, सांई नाथ तेरे हजारों हाथ -2

राम नाम की है तू माला, गौतम बाला तुझमें उजाला -2
नीम तेरे की मीठी छाया, बदले हर चोले की काया -2
सांई नाथ सांई नाथ, सांई नाथ तेरे हजारों हाथ -2

तेरा दर है दया का सागर सब मजहब भरते है गागर तेरा दर है........
तेरा दर है दया का सागर सब मजहब भरते है गागर
पावन पारस तेरी आग तेरा पत्थर क -कण राग तेरा पत्थर कण-कण राग
सांई नाथ सांई नाथ, सांई नाथ तेरे हजारों हाथ -2


तेरा मन्दिर सबका मदीना, जो भी आये सीखे जीना
तेरा मन्दिर सबका मदीना, जो भी आये सीखे जीना
तू चाहे तो टल जाये घात, तू ही भोला तू ही नाथ -2
सांई नाथ सांई नाथ, सांई नाथ तेरे हजारों हाथ -2

No comments:

Post a Comment